error:

NCERT का फुल फॉर्म क्या होता है?

NCERT: National Council of Educational Research and Training

NCERT का फुल फॉर्म नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग है। हिन्दी में इसे राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद कहते हैं।

NCERT क्या है?

NCERT राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद है। यह एक स्वायत्त निकाय है जो स्कूली शिक्षा से संबंधित शैक्षणिक मामलों पर सरकार को सलाह देता है। परिषद की स्थापना 1961 में भारत सरकार द्वारा देश में स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के उद्देश्य से की गई थी।

NCERT का मुख्य उद्देश्य क्या है?

एनसीईआरटी के प्रमुख उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

  • पाठ्यपुस्तकें, सहायक सामग्री, सीखने के पैकेज, मल्टीमीडिया डिजिटल सामग्री आदि तैयार करना।
  • विभिन्न स्तरों पर शैक्षिक मूल्यांकन सहित स्कूली शिक्षा के सभी क्षेत्रों में बुनियादी और अनुप्रयुक्त शोध करना।
  • शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रमों का विकास करना।
  • स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत विभिन्न अन्य संगठनों के साथ बातचीत करना।
  • शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ संबंध स्थापित करना।
  • कोई अन्य गतिविधि जो शिक्षा मंत्रालय द्वारा समय-समय पर सौंपी जाए।

भारतीय शिक्षा प्रणाली में NCERT की भूमिका:

NCERT ने उच्च गुणवत्ता वाली पाठ्यपुस्तकें, निर्देशात्मक सामग्री और शिक्षण सहायक सामग्री विकसित करके भारतीय शिक्षा प्रणाली में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। संगठन ने शिक्षण और सीखने के लिए नई शिक्षाशास्त्र और दृष्टिकोणों को शुरू करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसके अलावा, एनसीईआरटी स्कूलों और शिक्षकों को पाठ्यक्रम विकास, निर्देशात्मक डिजाइन और प्रभावी निर्देश के वितरण से संबंधित मुद्दों पर तकनीकी सहायता प्रदान करता है।

हाल के वर्षों में, एनसीईआरटी नवोन्मेषी मूल्यांकन प्रथाओं को लागू करने की दिशा में काम कर रहा है जो रटने के बजाय छात्रों के सीखने के परिणामों पर ध्यान केंद्रित करते हैं। परिषद एक राष्ट्रीय पाठ्यक्रम ढांचा तैयार करने के लिए भी जिम्मेदार है जो भारत में स्कूली शिक्षा के लक्ष्यों और उद्देश्यों को रेखांकित करता है।

कुल मिलाकर, हम कह सकते हैं कि NCERT का मुख्य लक्ष्य भारत में सभी छात्रों को उनकी सामाजिक या आर्थिक पृष्ठभूमि की परवाह किए बिना गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना है। परिषद नए कार्यक्रमों और सामग्रियों को विकसित करने के लिए अथक प्रयास करती है जो समग्र रूप से भारतीय शिक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में मदद करेगी।

इसे भी पढ़ें:

बातचीत में शामिल हों

Full Form List